01 September 2012

दोस्त हम और दुश्मन तुम थे - धीरेन्द्र


क्यों था उङने को व्याकुल मेरा मन । वह नव बसंत का आगमन था । जी हाँ इनका शुभ नाम है - श्री धीरेन्द्र भदौरिया । और इनका Occupation है - कृषि । और इनकी Location है - वेंकट नगर । अनुपपुर । मध्य प्रदेश । पिन - 484113 India धीरेन्द्र जी अपने Introduction में कहते हैं - बर्तमान में ( म.प्र. ) के जिला अनुपपुर में किसान कांग्रेस कमेटी का जिला अध्यक्ष हूँ । शेष कुछ खास नहीं । अगर फ़ोन करना चाहो । तो मेरा मोबाइल नम्बर ये है - 97526 85538 और इनका Interests है - राजनीतिक गतिविधियों में भाग लेना । कवितायें लिखना । और इनकी Favourite Films हैं - मदर इंडिया । मिलन । गाइड आदि । और इनका Favourite Music है  - गजल । भजन । लोक संगीत आदि । और इनकी
Favourite Books हैं - गोदान । गोरा । चंद्रकांता आदि । और ये है । इनकी कविता की झलक - तब दोस्त हम थे और दुश्मन तुम थे । लोग कश्तियाँ बदलते थे । तुम हमसफ़र बदलते थे और इनके ये 3 ब्लाग्स हैं - मेरा मन । मन की फ़ुहार काव्यांजलि । जिस ब्लाग पर जाना हो । उसी नाम पर क्लिक करें ।

7 comments:

dheerendra said...

मेरे ब्लॉग को रजिस्टर करने,और "ब्लॉग वर्ड" में मेरा मेरा परिचय कराने के लिए आपका दिल से आभारी हूँ,
धन्यवाद,,,,,,,,

RECENT POST,परिकल्पना सम्मान समारोह की झलकियाँ,

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

बहुत सुन्दर प्रस्तुति!
आपकी इस उत्कृष्ट प्रविष्टी की चर्चा आज रविवार (2-09-2012) के चर्चा मंच पर भी की गई है!
सूचनार्थ!

अरुन शर्मा said...

www.arunsblog.in

आमिर दुबई said...

http://ishq-love.blogspot.com/

आमिर दुबई said...

http://masters-tach.blogspot.com/

अरुण कुमार निगम (mitanigoth2.blogspot.com) said...

आदरणीय धीरेंद्र जी, बहुत-बहुत शुभकामनायें.
हम भी प्रतीक्षा में हैं, शायद कभी कुलश्रेष्ठ जी की नजरे इनायत हम पर भी हो जाये.

Anonymous said...

I'm not sure why but this website is loading incredibly slow for me. Is anyone else having this issue or is it a problem on my end? I'll сhесk back later on and sее if the prοblem stіll exіѕts.


Stoρ by my site; click the Next web site

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...