29 August 2012

जो मैं सोचता हूँ - कृष्णगोपाल


इनका शुभ नाम है - कृष्ण गोपाल । और इनकी Industry है - Government और इनका
Occupation है - Retired Gazetted Officer और इनकी Location है  - AGRA U.P. India कृष्ण गोपाल जी अपने Introduction में कहते हैं -  I belong to a middle class family.D.O.B. 15.1.1950.Started service as clerk in Post Office in 1970 and passed examinations and became Gaz.Officer.Retired in2010.I wanted to be in teaching line but could not study after B.A.due to the poorness. और इनका Interests है - Reading, writing, drawing, listening music, visiting places of natural scenes. और इनकी Favourite Films हैं - All good Hindi films.Some are Amar Prem, Amanush, Silsila, Sangam, Umrao jaan etc. और इनका Favourite Music है - Classical music, films music of very good films और इनकी Favourite Books हैं - Keith's books on science and his views on soul, religion etc. और इनका ब्लाग है - AS I THINK ( क्लिक करें )

3 comments:

Virendra Kumar Sharma said...

ram ram bhai
बृहस्पतिवार, 30 अगस्त 2012
आपकी रीढ़ के स्वास्थ्य से ही जुडी है आपकी नितम्ब ,सेक्रोइलियक जोइंट और टांगों की समस्याएं
आपकी रीढ़ के स्वास्थ्य से ही जुडी है आपकी नितम्ब ,सेक्रोइलियक जोइंट और टांगों की समस्याएं

Hip ,Sacroiliac Leg problems शीर्षक से आप इसी ब्लॉग पर अंग्रेजी में एक आलेख पढ़ चुकें हैं .अब यह आलेख यहाँ हिंदी में भी प्रस्तुत है .

पहले कुछ पारिभाषिक शब्दों और उनसे निर्मित संकर शब्दों को लेते हैं .

Sacrum :रीढ़ की आधार भूमि (जड़ या आधार )पर एक त्रिभुजाकार की हड्डी होती है .यह दोनों तरफ के प्रत्येक नितम्ब से जाके जुडती है तथा श्रोणी (Pelvis )का एक हिस्सा बनाती है .

Sacroiliac :इसका सम्बन्ध सेक्रम और नितम्ब की हड्डी के ऊपरी हिस्से से होता है .नितम्ब की हड्डी के इसी ऊपरी हिस्से को कहा जाता है ilium.दोनों को संयुक्त करके बना सेक्रोइलियाक .

चलिए इलियम को अलग से भी जान लेते हैं :यह श्रोणी का चौड़ा और समतल ऊपरी हिस्सा होता है .जो मेरु-स्थम्ब के आधार से जुड़ा होता है .

Virendra Kumar Sharma said...

ram ram bhai
बृहस्पतिवार, 30 अगस्त 2012
आपकी रीढ़ के स्वास्थ्य से ही जुडी है आपकी नितम्ब ,सेक्रोइलियक जोइंट और टांगों की समस्याएं
आपकी रीढ़ के स्वास्थ्य से ही जुडी है आपकी नितम्ब ,सेक्रोइलियक जोइंट और टांगों की समस्याएं

Hip ,Sacroiliac Leg problems शीर्षक से आप इसी ब्लॉग पर अंग्रेजी में एक आलेख पढ़ चुकें हैं .अब यह आलेख यहाँ हिंदी में भी प्रस्तुत है .

पहले कुछ पारिभाषिक शब्दों और उनसे निर्मित संकर शब्दों को लेते हैं .

Sacrum :रीढ़ की आधार भूमि (जड़ या आधार )पर एक त्रिभुजाकार की हड्डी होती है .यह दोनों तरफ के प्रत्येक नितम्ब से जाके जुडती है तथा श्रोणी (Pelvis )का एक हिस्सा बनाती है .

Sacroiliac :इसका सम्बन्ध सेक्रम और नितम्ब की हड्डी के ऊपरी हिस्से से होता है .नितम्ब की हड्डी के इसी ऊपरी हिस्से को कहा जाता है ilium.दोनों को संयुक्त करके बना सेक्रोइलियाक .

चलिए इलियम को अलग से भी जान लेते हैं :यह श्रोणी का चौड़ा और समतल ऊपरी हिस्सा होता है .जो मेरु-स्थम्ब के आधार से जुड़ा होता है .

dheerendra said...

मेरे ब्लॉग को "ब्लॉग वर्ड" शामिल करने का कष्ट करे,

dheerendra11.blogspot.com

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...