20 June 2012

प्रियतमा वादा आज शाम का - संतोष

प्रियतमा जिंदगी ! आओ ! फिर से मिलो । जी लें । कुछ लम्हे । बेतकल्लुफ होकर । कर लें । दो चार बातें । प्यार की तकरार की । आ जी लूं तुझे । जी भर कर । कबसे खड़ा हूँ  राह में । बांहे फैलाये । और हूँ बेकरार भी । संग तेरे चलने को । कर वादा आज का । आज की शाम का । कल हम यहाँ हों न हों । जी हाँ ! ये खूबसूरत शब्द हैं इनके । इनका शुभ नाम है - संतोष कुमार । और इनकी  Industry है - Manufacturing और इनका Occupation है -  Computer Professional और इनकी Location है -  Faizabad, Muzaffarpur Uttar Pradesh Bihar India संतोष जी अपने Introduction में कहते हैं -Computer Professional , Positive Thinker , Writer ,Poet and Explorer. Admirer of Arts, Music and literature. I am here to make a positive change in Life. मेरी कवितायेँ सजग मन की अनुभूतियों के विचार प्रवाह का लिखित रूप हैं । कोशिश करता हूँ कि इन्हें बांध सकूं । और सुघड एवं सरल भाषा में लोगों के बीच संप्रेषित कर सकूं -  संतोष कुमार 'सिद्धार्थ' और इनके ब्लाग हैं - Beloved Life और Santosh Speaks  ब्लाग के नाम पर क्लिक करें ।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...