05 June 2012

उसके लव चूमने को सब बेताब - सुधीर

कि उस बुत के लव चूमने को हर कोई बेताब । होङ थी फ़रिश्तों में उसे गले लगाने की । इन दिनों पलाश सा खिला है चेहरा उसका । कोयल सी कुहक है होठों पर उसके । ये भाव गीत है इनका ? और इनका शुभ नाम है - सुधीर मौर्य " सुधीर " और इनकी Industry है - Engineering और इनका Occupation है - Poet, Writer & Engg और इनकी Location है - Ganj Jalalabad, Unnao, U.P., India सुधीर जी अपने Introduction में कहते हैं - I am an engg & involve in self writing. और इनका Interests है - writing gazals, poem, story & novel और इनका Favourite Music है - Mukesh, Talat Mahmood और इनकी Favourite Books हैं - Aah, Gita, Lazza, Lams तभी तो सुधीर जी कहते हैं - कुदरत ने जो तूलिका उठायी बुत बनाने को । बनाया न था उसने कभी इस तरह जनाने को । हिरन सी लचक है चाल में उसकी । लगता है जैसे अवतरित हुआ है मधुमास शरीर में उसके । और इनके ब्लाग्स हैं - साहित्य नारी दस्तखत ब्लाग तङाग । कलम से साँझ । इनके ब्लाग पर जाने हेतु नाम अनुसार क्लिक करें

1 comment:

Sudheer Maurya 'Sudheer' said...

ji mera parichay dene ke liye dhanyawad....

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...