08 February 2012

जैसे वे मेरे अपने ही हैं - कविता रावत

इनका शुभ नाम है - कविता रावत । और Industry है Education और Location है Bhopal Delhi, Uttarakhand  Madhya Pradesh  India कविता जी अपने Introduction में कहती हैं - मैं शैल शिला । नदिका । पुण्यस्थल । देवभूमि । उत्तराखंड की संतति प्रकृति की धरोहर ताल तलैयों शैल शिखरों की सुरम्य नगरी भोपाल मध्य प्रदेश में निवासरत हूं । यहां के बरकतुल्लाह विश्वविद्यालय से स्नातकोत्तर शिक्षा प्राप्‍त की है । वर्तमान में स्कूल शिक्षा विभाग भोपाल में कर्मरत हूँ । भोपाल गैस त्रासदी की मार झेलने वाले हजारों में से एक हूँ । ऐसी विषम परिस्थितियों में मेरे अंदर उमड़ी संवेदना से लेखन की शुरुआत हुई । शायद इसीलिए मैं आज आम आदमी के दुख दर्द ख़ुशी गम को अपने करीब ही पाती हूँ । जैसे वे मेरे अपने ही हैं । ब्लॉग मेरे लिए एक ऐसा सामाजिक मंच है । जहाँ मैं अपने आपको एक विश्व व्यापी परिवार के सदस्य के रूप में देख पा रही हूँ । जिस पर अपने मन । दिल में उमड़ते घुमड़ते खट्टे मीठे  अनुभवों व विचारों को बांट पाने में समर्थ हो पा रही हूँ । इनका ब्लाग है - कविता रावत । क्लिक करें ।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...