21 January 2012

कविता को माध्यम बनाया - अरुण चन्द्र रॉय

ब्लाग वर्ल्ड काम के सभी सदस्यों को सूचित किया जाता है कि ब्लागस्पाट. काम में उन्हीं की किसी तकनीकी खामी की वजह से नये ब्लाग एड नहीं हो पा रहे । ऐसे सभी अनुरोध मेरे पास सुरक्षित है । कमी दूर होते ही उन्हें एड कर लिया जायेगा । अब परिचय - इनका शुभ नाम है - अरुण चन्द्र रॉय । और इनका Occupation है copy writer और  Location है ghaizabad, UP अरुण जी अपने Introduction में कहते हैं - पेशे से कॉपी रायटर तथा विज्ञापन व ब्रांड सलाहकार. दिल्ली और एन सी आर की कई विज्ञापन एजेंसियों के लिए और कई नामी गिरामी ब्रांडो के साथ काम करने के बाद स्वयं की विज्ञापन एजेंसी तथा डिजायन स्टूडियो का संचालन. अपने देश, समाज, अपने लोगों से सरोकार को बनाये रखने के लिए कविता को माध्यम बनाया है । वसंत के बारे में उनके ख्यालों को सार्थक करती एक कविता -  वसंत  । तुम्हारे आने की । दस्तक से ही । मन में । उठ जाती है । एक हूक । पढने को जी करता है । वही चिट्ठी । जो बंद है । वर्षों से । बीच संदूक । इनके ब्लाग हैं - सरोकार । अपनी माटी । ब्लाग पर जाने हेतु क्लिक करें ।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...