29 September 2011

ना जाने क्या क्या आकर्षित करता है - अनीता अग्रवाल

इलाहाबाद । उत्तर प्रदेश । भारत में रह रही अनीता अग्रवाल जी बङी सादगी से अपनी बात कहती हैं । पर इनका ब्लाग - अभिव्यक्ति..बङा हाई फ़ाई है । इतना कि मेरी तो समझ में ही नहीं आया कि - किसी ब्लाग पर आया हूँ । या लास वेगास के किसी मूवी थियेटर में । खैर..जो भी जैसा समझ में आया । देखता रहा । आप भी देखिये । और अनीता जी की पसन्द विचारों को जानिये । शायद मैंने ( हिन्दी ब्लाग में ) नहीं देखा हो । जैसा कि अनीता जी के ब्लाग में देखा । वैसे इलाहाबाद कमाल का शहर है । संगम है । अनीता जी वहाँ के बारे में भी कुछ हटकर लिखती । तो अलग ही आनन्द आ जाता । जैसा कि उन्होंने आगे अपने विचारों में व्यक्त किया है । अनीता जी अपने बारे में कहती हैं - एक साधारण महिला । जो जियो और जीने दो .. में विश्वास रखती है । रिश्ते नाते व मित्रता का महत्व जानती है । जिसे बारिश । गुलाब । समुंदर । पहाड़ी । नदी । पहाड़ । बदली । उगता व डूबता सूरज । निश्छल बच्चे की मुस्कान । और भी ना जाने क्या क्या आकर्षित करता है । परन्तु परिवार से बढ़कर कुछ नहीं । इनका ब्लाग - अभिव्यक्ति

5 comments:

Kailash C Sharma said...

http://batenkuchhdilkee.blogspot.com/

Rachana said...

blog achchha laga .aapka dhnyavad
rachana

Anonymous said...

Great article and blog and we want more :)

Anonymous said...

la actividad profesional contemporanea

Anonymous said...

und der Kleisterbildung vorgebeugt.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...