23 September 2011

शिक्षक अपनी जिम्मेदारी समझें - दर्शन लाल बबेजा

यमुनानगर । हरियाणा । भारत में  रह रहे श्री दर्शन लाल बबेजा बिज्ञान अध्यापक हैं । और एक अच्छे अध्यापक की तरह अपनी सामाजिक भूमिका के प्रति जागरूक हैं । इनके कई ब्लाग्स और विचार को देखकर तो यही लगता है । बहुत कम लोग ऐसे होते हैं । जो जिस समाज में रहते हैं । परस्पर व्यवहार करते हैं । उसके प्रति अपने दायित्व को न सिर्फ़ समझते हैं । वरन यथासंभव उसे निभाने का प्रयत्न भी करते हैं । वास्तव में ऊल जुलूल टायप के ब्लाग्स की भीङ में बबेजा जी का ब्लाग इस दृष्टिकोण से खास स्थान रखता है । एक जिम्मेदार चिन्तन हेतु । उन्हीं के शब्दों में - सभी शिक्षक अपनी जिम्मेदारी को समझें । विज्ञान एवँ पर्यावरण के प्रति विद्याथियों को शिक्षित करें । जिससे उनमें पर्यावरण की रक्षा करने की जागरुकता आये । यह कार्य अत्यावश्यक इसलिये है कि विद्यार्थी के कोमल मन मस्तिष्क पर बचपन में प्राप्त ज्ञान की अमिट छाप रहती है । और वह इसे जीवन भर नहीं भूलता । इसलिए अंधविश्वाश निवारण एवं पर्यावरण संरक्षण में शिक्षक की महत्वपूर्ण भूमिका है । इससे इंकार नही किया जा सकता । इनका ब्लाग - क्यों और कैसे बिज्ञान में
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...