26 June 2011

घुमक्कडी जिन्दाबाद - नीरज जाट

सैर कर दुनियाँ की गाफ़िल जिंदगानी फ़िर कहाँ । जिंदगानी गर रही तो नौजवानी फ़िर कहाँ । शायद यही बात नीरज जी के दिल में उतर गयी । और उन्होंने दुनियाँ की सैर करने की ठान ली । दिलवालों की दिल्ली में रहने वाले पेशे से इंजीनियर श्री नीरज जाट जी गोल गोल घूम रही प्रथ्वी पर स्केटिंग सी करते हुये घूमते ही रहते हैं । और अपने अनुभवों से घुमक्कङी का यह महँगा शौक सस्ते में किस तरह से हो जाये । सबको बताते हैं । घूमने के शौकीनों के लिये इनके ब्लाग पर बहुत मसाला टिप्स मौजूद है । और फ़िर भी कोई दिक्कत लगे । तो इनका फ़ोन नम्बर है ही । बस आपको ट्रिन ट्रिन करने की देर है । इनका कहना है कि - घुमक्कडी जिंदाबाद ! बेशक पर्यटन एक महंगा शौक है । उस पर समय खपाऊ और खर्चीला । जबकि घुमक्कडी इसके ठीक विपरीत है । यहां पर आप देखेंगे । किस तरह कम समय और सस्ते में बेहतरीन घुमक्कडी की जा सकती है । घुमक्कडी के लिये रुपये पैसे की जरुरत नहीं है । रुपये पैसे की जरुरत  है । बस के कंडक्टर को । जरुरत है । होटल वाले को । अगर यहीं पर कंजूसी दिखा दी । तो समझो घुमक्कडी सफल है । इनके ब्लाग - घुमक्कडी जिन्दाबाद मुसाफ़िर हूँ यारो । फोन - 0 99993 99632    

15 comments:

जाट देवता (संदीप पवाँर) said...

अरे आज तो आपने मेरे भाई के बारे में बताया है,
एक बात रह गयी कि बंदा हंसमुख भी बहुत है, कंजूस तो है ही,
राजीव जी आपको हम जैसे मस्त दीवाने नहीं मिले होंगे"

जिधर जाट निकले, उधर ठाठ अपने आप हो जाये,

शिखा कौशिक said...

too good Rajeev ji this time .good blog .

dipak kumar said...

bahut sundar
chhotawritersblogspot.com

वीना शर्मा said...

बहुत अच्छा परिचय..शुभकामनायें..

Kailash C Sharma said...

बहुत रोचक ब्लॉग. हार्दिक शुभकामनायें !

शालिनी कौशिक said...

nice introduction.

गिरीश मुकुल said...

सहयोग के लिये आभारी हूं

गिरीश"मुकुल" said...

http://voi-2.blogspot.com/

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ (Zakir Ali 'Rajnish') said...

नीरज भाई की घुमक्‍कडी के हम भी कायल हैं। इनके बारे में बताने का शुक्रिया।

अपने ब्‍लॉग को एग्रीगेटर का रूप देकर आपने बहुत प्‍यारा काम किया है। बधाई स्‍वीकारें।

मेरे ब्‍लॉग के लिंक्‍स निम्‍नवत हैं-

मेरी दुनिया मेरे सपने
: za.samwaad.com
बाल मन
: bm.samwaad.com
हमराही
: hr.samwaad.com
तस्‍लीम
: ts.samwaad.com
साइंस ब्‍लॉगर्स असोसिएशन:
sb.samwaad.com
सर्प संसार: ss.samwaad.com
कृपया इन्‍हें भी शामिल कर इन्‍हें इज्‍जत बख्‍शें।

दर्शन लाल बवेजा said...

बधाई स्‍वीकारें।
मेरे ब्‍लॉग के लिंक्‍स निम्‍न हैं-
www.sciencedarshan.in
http://kk.sciencedarshan.in/
http://tec.sciencedarshan.in/
www.parthvi.in

अरुण कुमार निगम (mitanigoth2.blogspot.com) said...

मेरी शुभकामनायें राजीव जी का आभार.

Anonymous said...

A topic near to my heart thanks, ive been wondering about this subject for a while.

Anonymous said...

El hecho de que la gente tenga que morir se toma,

Anonymous said...

Max Klinger representa al medico cortando

Anonymous said...

It's really a nice and helpful piece of info. I'm glad that you simply shared this helpful info with us.
Please stay us informed like this. Thanks for sharing.


my page - http://erovilla.com

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...