10 June 2011

बंद आँखों में मुस्कुराते हो - अंजना..गुङिया

किसने कहा - मोनालिसा की मुस्कान सबसे हसीन है ? दरअसल पाब्लो पिकासो ने अंजना जी को मुस्कराते हुये नहीं देखा । ये पिकासो का दुर्भाग्य है ।.. पर हम तो अंजना जी की मनमोहक मुस्कान और दिलखुश शायरी रोज देखते ( पढते ) हैं । अंजना जी कहती हैं - एक माँ । पत्नी । पुत्री । बहन । और मित्र । सबसे खूबसूरत देश भारत - नयी दिल्ली में जन्मी -मैं अंजना गुङिया हूँ । ( अंग्रेजी मुझे आती नहीं । आप लोग पढकर मुझे भी बता देना -  Very fortunate to have a family that facilitates learning and expression. A humanitarian at heart and have had the honor of working with survivors of disasters and armed-conflicts in India..Sri Lanka..Pakistan..Maldives, Indonesia, Uganda and Puerto Rico ( और भी देखिये ) पापा ने अपनी वसीयत में शौक ए शायरी मेरे नाम कर दिया । दुनिया वालों चाहो तो पढ़ लो मुझे । मैंने तहरीर ए ज़िन्दगी आम कर दिया । ( क्या बात है भाई - खुली आँखों की सच्चाई कुछ भी हो । बंद आँखों में अक्सर मुस्कुराते हो..अंजना जी ये बन्द आँखों से देखने की टेकनीक मुझे भी सिखा दो । इनका ब्लाग - रंग बिरंगी एकता
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...