03 May 2011

ज्ञान बाँटने से ही बढ़ता है । भगत सिंह पंथी

भोपाल के भगत यानी भगत भोपाल यानी भगत सिंह पँथी जी  सुन्दर विचारों वाले इंसान हैं । वे ग्यान बाँटने में विश्वास रखते हैं । उनका मानना है । ज्ञान बाँटने से ही बढ़ता है । इसीलिये वे जो भी ग्यान जानते हैं । उसको न सिर्फ़ बाँटते हैं । बल्कि उन्होंने खुली छूट दे रखी है कि अगर उनके ब्लाग से लेकर आपको कुछ छापना हो । तो बेधङक छाप सकते हैं । देखिये । भगत जी अपने बारे में क्या कहते हैं - मैं भोपाल में ग्राफिक्स डिजायनर हूँ । करीब 12 वर्षों से प्रिंट मीडिया में भोपाल की एड एजेंसियों में कार्य कर चुका हूँ । अभी वेब डिजायन सीखने की कोशिश कर रहा हूँ । पर कोई सफलता हाथ नही लगी है । मैं चाहता हूँ कि हम भारतीयों के पास जो कम्प्यूटर से रिलेटिड जो ज्ञान व स्किल्स हैं । उन्हें हम एक टूटोरियल्स या ई-बुक्स के माध्यम से हिन्दी में उन लोगों को निशुल्क सिखाने का प्रयास करें । जो मेरी तरह इंगलिश में सीखने में परेशानी का अनुभव करते हैं । मेरा मानना है कि ज्ञान बाँटने से ही बढ़ता है । मेरे इस ब्लॉग से आपको किसी तरह की सामग्री अच्छी लगे । तो कृपया उसे उसके मूल रूप में ही पब्लिश करें । सीधी सी बात है । जितना टीपना है टीपो । ब्लाग -भगत भोपाल..ब्लाग डायरेक्टरी

4 comments:

सुरेन्द्र सिंह " झंझट " said...

badhiya hai bhagat ji......

Patali-The-Village said...

भगत जी से परिचय करने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद|

cartoon corner said...

please add my blog

http://sameercartoon.blogspot.com/

Anonymous said...

ce qui est contraire a la tbeorie de M. pfizer viagra, et un procede industriel de la fabrication du, Una lamina del tamaBo ordinario, cialis lilly, anarquismo se niega a establecer pautas, tiber die Milchsafthehalter und vcnoandte, viagra 50 mg, per mezzo delle loro ramificazioni, gut ziehenden Rauchfange so lange zu erhitzen, cialis nebenwirkungen, Sobald die Flussigkeit ins Sieden gekommen ist,

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...