27 April 2011

शब्द भावनाओं की अभिव्यक्ति । प्रियंका राठौर

प्रियंका जी का..विचार प्रवाह..जब बहना शुरू होता है । तो उसको देखते..सुनते..गुनते..हम सब भी अविरल उनके साथ ही बहने लगते हैं । फ़िर ये बहाव कहाँ जाकर समाप्त होगा । इसका अहसास ही नहीं रहता । उनके शब्दों में दर्द का अहसास...अहसास का दर्द आप भी महसूस करें - बूढी हड्डियों में है ना दम । हाथ पैरों में है अब कम्पन । फिर भी हर दिन हर पल । नातिन को लिए गोद में अस्पतालों के चक्कर लगाती है ।... और फ़िर माँ की ममता और महानता का बोध होना देखिये - भरे दिल में उम्मीद की आस । यूँ ही जीवन जीती जाती है  । उस पल का कोई मोल नहीं । हाँ - ऐसी होती है माँ की ममता । जिसका कोई तोल नहीं ।..तो ये है । प्रियंका जी का विचार प्रवाह जो हमें दूर तक..बहुत दूर तक ले जाता है । आगे वे कहतीं हैं - शब्द भावनाओं की अभिव्यक्ति हैं । जिनसे उलझना मेरे जीवन का हिस्सा है । कुछ साहित्य से जुडाव लिखने को प्रेरित करता है । कुछ भागती हुई जिन्दगी..इसी अहसास के साथ अपनी जीवन यात्रा के विचार प्रवाह को आप सबके सामने रख रही हूँ । अतः किसी साहित्यिक गलती के लिए माफी की हकदार भी हूँ । ब्लाग - विचार प्रवाह

14 comments:

शिखा कौशिक said...

Priyanka ji ka parichay bahut achchha laga .Rajeev ji aap blog jagat me aa gaye hain ya adrashy hi hain .

शालिनी कौशिक said...

bahut achcha kiya aapne jo priyanka ji ke blog ko yahan bhi sthan diya.shikha ji ne unke blog ko kal ye blog achchha laga par sthan diya aur unka blog is sthan ka adhikari bhi hai.priyanka ji ko bahut bahut badhai.

PRIYANKA RATHORE said...

rajeev ji mere blog ka parichaya krvane ke liye bahu bahu dhanybad...aabhar

: केवल राम : said...

आदरणीय प्रियंका जी परिचय करवाने के लिए आपका आभार .....वैसे इनके ब्लॉग पर जाता रहता हूँ ....आपका प्रयास सराहनीय है राजीव जी ..!

Kailash C Sharma said...

प्रियंका जी से परिचय कराने के लिये आभार..हार्दिक शुभ कामनायें!

anurag anant said...

http://anantsabha.blogspot.com/

सुरेन्द्र सिंह " झंझट " said...

कोमल भावों को सुन्दर शब्दों में बड़ी खूबसूरती से बुना है....

Patali-The-Village said...

प्रियंका जी से परिचय कराने के लिये आभार|

दिगम्बर नासवा said...

Priyanka ji ke vichaaron ka manthan lajawaab raha ....

सुशील बाकलीवाल said...

प्रियंका राठौरजी के विस्तृत परिचय हेतु आभार सहित...

ZEAL said...

Its a pleasure to meet Priyanka ji.

Anonymous said...

Very useful reading. Very helpful, I look forward to reading more of your posts.

Anonymous said...

Au bout de trois semaines,

Anonymous said...

Zersetzungsprocess aufhebt.

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...