13 March 2011

थोङा बहुत लिख लेता हूँ । नरेन्द्र व्यास



कुछ साहित्यिक टच लिये..और कुछ विशुद्ध साहित्यिक..अनमोल गहरी गम्भीर रचनाओं का बहुमूल्य संकलन जिस कलश में श्री नरेन्द्र व्यास जी ने किया है । और करते चले जा रहे हैं । उसका नाम आखर कलश है । अलग अलग कवियों लेखकों की रचनाओं से सजा आखर कलश अनुपम छटा बिखेरता है । आईये देखें । नरेन्द्र जी क्या कहते हैं । अपने बारे में..वैसे तो मैं अपने आपको कोई लेखक नहीं मानता । हाँ थोडा बहुत लिख लेता हूँ । हाँ कुछ रचनाएँ कृत्या । अनुभूति । सृजनगाथा । नवभारत टाइम्स कुछ मेगजींस और कुछ समाचार पत्रों में प्रकाशित हुई हैं । हिन्दी साहित्य । कविता । कहानी आदि हिन्दी की समस्त विधाएँ पढने शौक है । इसीलिये मैंने आखर कलश शुरू किया । जिससे मुझे और अधिक लेखकों को पढने सीखने और उनसे संवाद कायम करने का सुअवसर मिले । दरअसल हिन्दी साहित्य की सेवा में मेरा ये एक छोटा सा प्रयास है । उम्मीद है । आप सभी हिन्दी साहित्य प्रेमी मेरे इस प्रयास में मेरा मार्गदर्शन करेंगे । BLOG .. आखर कलश 

13 comments:

: केवल राम : said...

नरेंद्र व्यास जी को हार्दिक शुभकामनायें

दर्शन कौर धनोए said...

नरेंद्र व्यास जी को हार्दिक शुभकामनायें

Patali-The-Village said...

नरेंद्र व्यास जी को हार्दिक शुभकामनायें|

G.N.SHAW said...

राजीव जी आप की इच्छा पूरी हुई , जान कर खुशी हुई .. यह ॐ साईं के आशीर्वाद का फल है ! narendra जी को बधाई हो

शालिनी कौशिक said...

बहुत सार्थक भावना से भरे हैं आप ,आपका प्रयास सफल करने में जुटे हैं स्वयं आप और हम.राजीव जी ने आपसे परिचय कराया इसके लिए हम उनके बहुत बहुत आभारी हैं..

सुशील बाकलीवाल said...

हार्दिक शुभकामनाएँ श्री नरेन्द्रजी व्यास को.

amrendra "amar" said...

नरेंद्र जी को हार्दिक शुभकामनायें

नरेन्द्र व्यास said...

मुझे इस पोस्ट के बारे में आज ही ज्ञात हुआ. मैं शर्मिंदा हूँ कि इतने दिनों अनजाने में ही आप सब गुणीजनों का शुक्रिया अदा नहीं कर पाया. आशा है आप मुझे माफ़ कर पायेंगे. श्री राजीव जी का मैं अन्तःकरण से आभारी हूँ जो एक नाचीज़ को इतना मान दिया और दिलवाया.. बस नतमस्तक हूँ.
श्री केवलराम जी, दर्शन कौर जी, जी. एन. शा जी, शालिनी कौशिक जी, सुशील जी और नरेन्द्र 'अमर' जी का मैं दिल से आभार व्यक्त करते हुए नमन करता हूँ..आपका उत्साहवर्धन मेरा संबल है..अपना स्नेहिल मार्गदर्शन और आशीर्वाद बनाये रखियेगा...यही प्रार्थना है...प्रणाम !

Anonymous said...

My programmer is trying to persuade me to move to .
net from PHP. I have always disliked the idea because of the costs.
But he's tryiong none the less. I've been using WordPress
on a number of websites for about a year and am worried about switching to another platform.

I have heard great things about blogengine.net. Is there a way I can transfer all my wordpress content
into it? Any help would be greatly appreciated!
My page : and this site

Anonymous said...

die Backwaare von dieser Verunreinigung zu

Anonymous said...

ou meme celui du plus fort moxa.

Anonymous said...

My family members always say that I am wasting my time here
at net, except I know I am getting know-how everyday by reading thes pleasant posts.


My weblog :: Www.Erovilla.Com

Anonymous said...

Ridiculous story there. What happened after?
Take care!

My web page; The homepage

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...