07 March 2011

मैं गलत बात बर्दाश्त नहीं कर पाती । शालिनी कौशिक


ये कितनी सुखद बात है कि हम सबके बीच दुखी पीङित इंसान का दुख दर्द दिल से न सिर्फ़ महसूस करने वालीं । बल्कि पीड़ितों की मदद भी करने वालीं वकील साहिबा सुश्री शालिनी कौशिक जी..एज ए ब्लागर ..एज ए सच्चे भावुक इंसान मौजूद हैं । इन्हीं भावों और भावुकता में इनसे भी चार कदम आगे इनकी छोटी बहन सुश्री शिखा कौशिक जी भी हमारे बीच हैं । आईये देखें । शालिनी जी अपने दिल की बात कैसे शेयर कर रहीं हैं ।..मैं एक अधिवक्ता हूँ । और मैं हर वक़्त पीड़ितों की मदद के लिए तैयार हूँ । ये तो हुई बाहरी बात । किन्तु अन्दर से मेरे परिवार के लोग अर्थात मेरे मम्मी-पापा और छोटी बहन मुझे जिद्दी कहते हैं । ये कुछ हद तक सही भी है । किन्तु वास्तव में मैं गलत बात बर्दाश्त नहीं कर पाती । और जब तक स्वयं को सही नहीं समझती । तब तक उस बात पर अडती भी नहीं । इसलिए मुझे जिद्दी की श्रेणी में लिया जाता है । मैं नारीवादी या पुरुषवादी भी नहीं हूँ । क्योंकि मैं देखती हूँ कि जहाँ जिसका दांव पड़ जाता है । वही दूसरे पक्ष को दबा डालता है । BLOG..कौशल कानूनी ज्ञान

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...