11 February 2011

दिव्या कौन है ? 3

ब्लागर परिचय के अंतर्गत सबसे पहले आपका परिचय..अभी थाईलेंड में रह रही डा. दिव्या जी से करा रहा हूँ । दिव्या जी ही इस ब्लाग डायरेक्टरी की सर्वप्रथम फ़ालोअर्स बनी थी ।आधुनिकता और पुरातनता दोनों में ही समान रूप से विश्वास करने वाली दिव्याजी एक नारी के स्वभाव के दृष्टिकोण से अदभुत स्वभाव की हैं । यह विद्रोही जैसा ? स्वभाव उनकी रचनाओं में सहज ही झलकता है । हालांकि दिव्या जी से लगभग पूरा ब्लाग जगत परिचित है । फ़िर भी नये और अपरिचित आडियंस के लिये तो ये परिचय उपयोगी है ही । आगे पढिये । दिव्या जी के लेखों से कुछ अंश..दिव्या कौन है ?  दिव्या एक स्त्री है । जो स्वयं को सुधारना चाहती है । और अपने साथ साथ । पूरे समाज को सुधारना चाहती है । वो एक ऐसी दुनियाँ की कल्पना करती है । जहाँ स्त्री पुरुष समान अधिकार और सम्मान के साथ जिए । एक समाज जो भृष्टाचार से मुक्त हो । एक परिवेश जिसमें सभी संवेदनशील हो । द्वेषमुक्त हों । तथा अपनापन हो ।..आप अच्छे थे पहले अजनबी की तरह । मुझसे मिलते तो थे अपनों की तरह । अपना बनकर तो आप बहुत दूर हो गए । अब कुशलक्षेम भी होती है गैरों की तरह । Dr.Divya Srivastava..An iron lady !..Thailand..BLOG 1 Paradise..2 ZEAL

11 comments:

RAJEEV KUMAR KULSHRESTHA said...

एक ही क्लिक में / BLOG WORLD . COM / ब्लाग वर्ल्ड . काम / तक आने के लिये । ये विजेट अपने ब्लाग पर लगाने के लिये कोड को मेरे प्रोफ़ायल से कापी करके अपने ब्लाग में लगा सकते हैं । dashboard > design > add a gadget > HTML / JAVA SCRIPT > save इसके बाद विजेट मनपसंद स्थान पर लगाने के बाद पुनः save कर दें । आपके सहयोग का हार्दिक धन्यवाद । सिर्फ़ कोड ही कापी करें । COPYRIGHT@ RAJEEV KUMAR KULSHRESTHA

रश्मि प्रभा... said...

divya ji ke vichaaron ka main samman karti hun...

Kunwar Kusumesh said...

अच्छा शुभारम्भ.
Divya ji is a fearless and dashing personality.

रजनी मल्होत्रा नैय्यर said...
This comment has been removed by the author.
रजनी मल्होत्रा नैय्यर said...

achaa laga divya ji ko aur bhi achhe tarah janakar ...........shubhkamnayen ........ye safar yun hi aage bdhate rahiye sabse milate hue

ZEAL said...

.

Rajeev ji ,

Many thanks to you .

Regards ,

.

सदा said...

दिव्‍या जी, बहुत ही अच्‍छा लिखती हैं ..आप बहुत ही भावुक भी हैं और साहसी भी है इन्‍हें पढ़ना हमेशा ही अच्‍छा लगता है, इनके लिये मेरी शुभकामनायें ...आपकी इस विशेष प्रस्‍तुति का आभार ।

Rajendra said...

sir ji aapka dhanyawaad me bhi is samuday se judna cahta hun .. mera email address he rajendrakohinoor@gmail.com or mere blog address he ...
www.jagran-josh.blogspot.com
and
www.soft324.blogspot.com

Anonymous said...

I have the same type of blog myself so I will come back back to read again.

Anonymous said...

vermehrt man die Umdrehungsgeschwindigkeit der,

Anonymous said...

Von der Beutelmaschine wird das Mehl durch Rohren,

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...