13 February 2011

रश्मिप्रभा । ब्लागर परिचय । 5 ।

वास्तव में ईमानदारी से कहूँ । तो मैं रश्मिप्रभा जी से एकदम अपरिचित ही था । पर इनके ब्लाग नज़्मों की सौगात.. पर इनकी पसंद । कलात्मकता पूर्ण अभिरुचि । अन्य विचार आदि से चकित ही रह गया । वास्तव में जिसे बचपन से ही ऐसी महान हस्तियों का सानिंध्य । सरंक्षण मिला हो । उसके बारे में कुछ भी कहने के लिये थोङे शब्दों से काम नहीं चल सकता ( जिसकी यहाँ मजबूरी है । ) अतः आप खुद ही देखिये प्रभा जी क्या कह रही हैं ।
रश्मिप्रभा..मैं गीतों की एक कड़ी हूँ ।  जो तुमने नहीं कहा । जो उसने नहीं कहा । वो सब कहना चाहती हूँ । गाना चाहती हूँ । मैं अपनी पिटारी के सारे ख्याल तुम्हें देना चाहती हूँ ।..कागजों में 31 अगस्त ।
अमृता का जन्मदिन होता है । मुहब्बत में हर रोज़ । अमृता का जन्मदिन होता है ।सौभाग्य मेरा कि मैं कवि पन्त की मानस पुत्री श्रीमती सरस्वती प्रसाद की बेटी हूँ । और मेरा नामकरण स्व सुमित्रानंदन पन्त ने किया । और मेरे नाम के साथ अपनी स्वरचित पंक्तियाँ मेरे नाम की..। " सुन्दर जीवन का क्रम रे । सुन्दर सुन्दर जग जीवन ".. शब्दों की पांडुलिपि मुझे विरासत मे मिली है । अगर शब्दों की धनी मैं ना होती । तो मेरा मन । मेरे विचार मेरे अन्दर दम तोड़ देते । मेरा मन जहाँ तक जाता है । मेरे शब्द उसके अभिव्यक्ति बन जाते हैं । यकीनन ये शब्द ही मेरा सुकून हैं ।Industry । Business Services । Occupation । Business । Location । पटना । बिहार । BLOG..नज़्मों की सौगात मेरी भावनायें खिलौने वाला घर क्षणिकाँए ।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...